Main Menu

हरियाणा : जाट आरक्षण आंदोलन में पूर्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के घर में आगजनी के मामले में 54 आरोपी को किया माफ़ , खाप पंचायत में हुआ फैसला

हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान फरवरी 2016 में रोहतक  हरियाणा के पूर्व वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु के घर में आगजनी के मामले में   54 आरोपियों को माफ कर दिया है. हरियाणा के जींद की जाट धर्मशाला में गुरुवार को हुई सर्वजातिय खाप पंचायत ने दोनों पक्षों के बीच फैसला कर समझोता करवा दिया हैं.

क्या हैं पूरा मामला 

हरियाणा के रोहतक में फरवरी 2016 में हरियाणा के पूर्व वितमंत्री कॅप्टन अभिमन्यु कर घर पर हिंसा हुई थी और कुछ लोगो ने आग लगा दी थी जिसके बाद मंत्री के परिवार द्वारा शिकायत दर्ज करवाई गयी थी. इस मामले में पुलिस ने काफी लोगो को गिरफ्तार किया था. इसी केस में 54 युवको को जींद में आयोजित हुई सर्वजातीय खाप पंचायत ने माफ़ कर दिया हैं. इस पंचायत में कॅप्टन अभिमन्यु के भाई सेन सिन्धु शामिल हुए. इस मामले की जांच सीबीआई कर रही हैं. इस पंचायत में आरोपी भी शामिल रहे उन्होंने पंचायत के समक्ष माफीनामा भी लिखकर दिया.

खाप पंचायत में सामूहिक रूप से इन आरोपियों पर 11 हजार रुपये गौशाला में दान देने का जुर्माना लगाया और समझौता करवाया। इसके बाद सतरोल खाप व सिंधु परिवार ने इस जुर्माने को माफ कर दिया। सर्व खाप पंचायत को इस मामले में सीबीआई द्वारा बनाए गए आरोपियों ने एक माफीनामा दिया। जिसमें लिखा था कि सिंधु निवास पर जो हमला, लूटपाट और आगजनी हुई उसके लिए हम खेद व्यक्त करते हैं। इस विषय में हमारी प्रत्यक्ष एवं परोक्ष भूमिका, गलती या भूल चूक के लिए क्षमा प्रार्थी हैं। समाज की तरफ से आयोजित इस पंचायत में जो भी निर्णय लिया जाएगा हम उसे स्वीकार करेंगे। सिंधु परिवार ने भी कहा कि पंचायत जो भी फैसला करेंगी वह उसे मानेगा । इस मामले में पंचायत की कार्यवाही के बाद 21 सदस्यों की एक कमेटी बनाई गई जिसने यह फैसला पंचायत के समक्ष रखा. पंचायत ने  फैसला किया की 54 आरोपियों को माफ़ किया जाता हैं. साथ ही पंचायत ने घटना को दुर्भाग्य पूर्ण बताया.

 






Related News

Comments are Closed

shares
error: Content is protected !!
Don`t copy text!
%d bloggers like this: