Main Menu

निर्भया की वकील जिसने 7 साल तक फ्री में केस लड़ा और निर्भया को इंसाफ दिलाया

आज सुबह 5:30 बजे निर्भया के दोषियों को दिल्ली की तिहाड़ जेल में फांसी पर लटकाया गया. आज सात साल के बाद निर्भया को इंसाफ मिला. निर्भया के दोषियों ने फांसी दिए जाने से कुछ घंटे पहले तक हाई कोर्ट से लेकर आधी रात को सुप्रीम कोर्ट तक अर्जी लगाई रात को सुनवाई हुई और फांसी का फैसला बरकरार हुआ. आखिरकार सुबह चारो दोषियों को फांसी की सजा दे दी गई

निर्भया की वकील जिसने 7 साल तक फ्री में केस लड़ा और निर्भया को इंसाफ दिलाया 

निर्भया के साथ 16 दिसबंर को दिल्ली की एक चलती बस में बलात्कार हुआ जिसको पूरे देश ने हिला कर रख दिया कुछ दिन के बाद निर्भया का निधन हो गया. जिसमे 6 दोषियों को हिरासत में लिया गया जिनमे राम सिंह की मोत हो गई और एक नाबालिग को 3 साल की सजा हुई. चार दोषियों को आज सुबह फांसी पर लटकाया गया. निर्भया की वकील सीमा ने निर्भया का केस फ्री में लड़ने की घोषणा की थी और उन्होंने 7 साल तक दिन रात एक करके केस लड़ा और केस जीता और दोषियों को फांसी के फंदे तक पहुचाया.

आपको बता दे की निर्भया की वकील ने दिल्ली विश्वविद्यालय से वकालत की पढ़ाई की है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वे IAS बनना चाहती थीं. साल 2012 में जब निर्भया के साथ ये घटना हुई थी, उस समय सीमा कोर्ट में ट्रेनिंग कर रही थीं, इसके वाद सीमा ने इस केस को बिना पैसे के लड़ने का निश्चय किया और यह भी संकल्प लिया कि वे निर्भया को इंसाफ दिलाकर रहेंगी. उन्होंने अपना वादा पूरा किया.

केस लड़ने के साथ साथ सीमा ने निर्भया के परिवार को भी काफी सहयोग किया और एक बेटी की तरह वो निर्भया के परिवार के साथ खड़ी रही. वही दूसरी और दोषियों के वकील ऐ पी सिंह ने दो बार डेथ वारंट जारी होने के बाद  भी फांसी को तारीख को याचिकाए लगा कर टलवाया. फिर भी सीमा ने हार नही मानी और आखिरकार दोषियों को फांसी पर लटकवा दिया






Related News

error: Content is protected !!
Don`t copy text!